आर्थिक सायबर फ्रॉड पर पुलिस का प्रहार, 2112 बैंक खातों में hold करवाई 16.68 करोड़ रुपए की राशि, 1400 फर्जी सिम कार्ड को कराया गया ब्लॉक

 

बिलासपुर। आर्थिक साइबर कार्ड करने वाले ठगों के खिलाफ पुलिस अधीक्षक रजनेश सिंह के नेतृत्व में पुलिस का ऑपरेशन प्रहार जारी है। सायबर फ्रॉड के विरुद्ध बिलासपुर पुलिस ऑपरेशन प्रहार चला रही है। इसके साथ पीड़ितों को फ्रॉड की गई राशि वापस दिलवाने के लिए विशेष प्रयास किया जा रहे हैं। अब तक 2112 संदिग्ध बैंक खातों को चिन्हित कर 16.68 करोड़ रुपए होल्ड करवाए गए है। साथ ही सायबर फ्रॉड से संबंधित 1400 फर्जी सिम कार्ड को ब्लॉक करवाया गया है।

मामले में सायबर सेल के पर्यवेक्षण अधिकारी एडिशन एसपी अनुज कुमार ने बताया कि पुलिस अधीक्षक रजनेश सिंह मैं साइबर के माध्यम से हो रहे आर्थिक ठगी के मामलों को गंभीरता से लेते हुए एसीसीयू बिलासपुर को वर्षवार पृथक– पृथक सूची तैयार करने के निर्देश दिए थे। पुलिस अधीक्षक के निर्देश के बाद एक्स बिलासपुर द्वारा व्हाट्सएप सूचित दया कर संबंधित फरियादियों से संपर्क कर उनसे प्रकरण की जानकारी ली गई। साथ ही फ्रॉड राशि जो साइबर सेल द्वारा विभिन्न संदिग्ध बैंक अकाउंट में होल्ड कराई गई है उस राशि को वापस प्राप्त करने की प्रक्रिया बताइ गई।

एडिशनल एसपी अनुज कुमार ने बताया कि सायबर फ्रॉड के प्रकरणों की समीक्षा में वर्ष 2023 में दर्ज 1885 मामलों की जानकारी मिली। जिसमें से 815 प्रकरणों में कुल 1087 संदिग्ध बैंक अकाउंट फ्रीज करवाए गए। इन खातों में करीब 9 करोड़ 25 लाख रुपए थे। इसी प्रकार वर्ष 2024 में साइबर आर्थिक फ्रॉड के कुल 843 प्रकरण दर्ज किए गए जिसमें 216 प्रकरणों में कुल 1025 संदिग्ध बैंक अकाउंट फ्रीज करवाए गए। जिसमें 7 करोड़ 43 लाख रुपए बैंकों में होल्ड करवाया गया। विगत दो वर्षों में करीब 16.68 करोड़ रुपए की धोखाधड़ी राशि अलग अलग बैंको में होल्ड करवाई गई है। पुलिस के अनुसार बैंकों में होल्ड राशि फरियादियों के बैंक अकाउंट में वापसी की कार्यवाही प्रक्रियाधीन है।

एसपी रजनेश सिंह ने की अपील….

सायबर ठगों से बचने एसपी रजनेश सिंह ने की अपील…

🔸 *कोई भी व्यक्ति अनजान नम्बर से अपने आप को पुलिस का अधिकारी, सी.बी.आई. अथवा ई.डी. का अधिकारी बताकर ठगी करने का प्रयास करते है ऐसे कॉल से सावधान रहे। बिलासपुर पुलिस इस प्रकार के ठगी को रोकने के लिये थानो में आम जनता द्वारा दर्ज कराये गये रिपोर्ट में मोबाईल नम्बर एवं व्यक्तिगत जानकारी हाईड किया जा रहा है।*
🔸 *अनजान व्यक्ति जिसका नम्बर आपके मोबाईल पर सेव नहीं है उसके साथ कभी भी कोई निजी जानकारी बैंकिग जानकारी ओटीपी आधार कार्ड, पैन कार्ड फोटो आदि शेयर न करे।*
🔸 *अनजान वेबसाईट एवं अनाधिकृत एप डॉउनलोड या सर्च करने से बचे।*
🔸 *कम परिश्रम से अधिक लाभ कमाने अथवा रकम दुगना करने का झासा देने वाले व्यक्तियों से सावधान रहे खुद को स्वयं होकर ठगों के पास न पहुंचाये। स्वयं की पहचान छुपाकर सोशल मिडीया फेसबुक, इन्स्टाग्राम, व्हाट्सएप इत्यादि के माध्यम से इंटिमेट* *(अश्लील लाईव चैट) करने से बचे।*
🔸 *परीक्षा में अधिक अंको से पास करा देने की झांसा देने वाले व्यक्तियो खासकर +92 नम्बरो से आने वाले वॉट्सअप कॉल से बचने का प्रयास करे।**

साइबर फॉड की घटना घटित होने पर निम्न प्रकार से त्वरित रिपोर्ट दर्ज करा सकते है :-

📌 *तत्काल नजदीकी थाना में अपनी शिकायत दर्ज करें।*

📌 *हेल्पलाईन नम्बर 1930 पर सम्पर्क कर सहायता प्राप्त कर सकते है।*
📌 *https://cybercrime.gov.in पर जाकर ऑनलाइन शिकायत दर्ज कर सकते है।*

रवि शुक्ला . निर्मल माणिक

Next Post

जुआ पर नियंत्रण लगाने में नाकाम थाना प्रभारी को एसपी ने हटाया, जुआ खिलाने वाले चार रसूखदार फड़दारों को भी भेजा गया जेल

Sun May 26 , 2024
बिलासपुर ।जुए पे प्रभावी नियंत्रण नहीं रख पाने के चलते पुलिस अधीक्षक ने मस्तूरी थाना प्रभारी को लाइन अटैच किया है। साथ ही जुए के फील्ड में छापामार कर चार फड़दारों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। बिलासपुर। जुए पर प्रभावी नियंत्रण लगाने में नाकाम मस्तुरी थाना प्रभारी को […]

You May Like

Breaking News