जो टेक्नोलॉजी एप्रूव्ड नहीं उसको लगाने की जि‌द्द में १ साल गंवाया अब केंद्र सरकार के साफ़ इंकार के बाद भी कोई हलचल नहीं , बिलासा बाई केंवट एयरपोर्ट पर नाईट लैंडिंग का काम १ साल पिछडा

बिलासपुर, 25 मई । हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति ने बिलासपुर की जनता के साथ हवाई सुविधा के नाम पर किये जा रहे खिलवाड़ की कड़ी को सार्वजनिक करते हुए आज सनसनीखेज खुलासा किया और कहा कि नाईट लैंडिंग के लिए जिस सॅटेलाइट आधारित टेक्नोलॉजी को लगाने की छत्तीसगढ़ सरकार के अधिकारी ज़िद्द कर रहे थे वो आज तक केंद्र सरकार और डायरेक्टर जनरल सिविल एविएशन के द्वारा एप्रूव्ड नहीं है. इस एम् बी एन टेक्नोलॉजी का उपयोग परंपरागत टेक्नोलॉजी के रहने पर अतिरिक्त टेक्नोलॉजी के रूप में ही किया जा सकता है और केवल उसे लगाकर नाईट लैंडिंग का लाइसेंस नहीं मिलेगा.

गौरतलब है कि नाईट लैंडिंग के लिए एप्रूव्ड टेक्नोलॉजी में डी वी ओ आर जैसे उपकरण लगउए जाते है. डीवीओआर (डॉपलर वीएचएफ ओमनी डायरेक्शनल रेंज) एक छोटी/मध्यम दूरी की रेडियो नेविगेशन प्रणाली है जिसका उपयोग विमान को 108.00 से 117.95 मेगाहर्ट्ज के बीच भेजे गए वीएचएफ (बहुत उच्च आवृत्ति) संकेतों का उपयोग करके अपने गंतव्य के संबंध में उनकी उड़ान की स्थिति और दिशा निर्धारित करने में सहायता करने के लिए किया जाता है। ये उपकरण विदेश से आयत किये जाते है और इसमें समय लगता है। आज आदेश दें के बाद उपकरण आने और स्थापित कर टेस्ट आदि करने में लगभग ६ से ८ माह लगेंगे। इस उपकरण की स्थापना के बाद ही नाईट लैंडिंग हेतु आवेदन डी जी सी ए की दिया जा सकता है जो जांच आदि कर लाइसेंस प्रदान करेंगे. अर्थात आ से एक साल तक बिलासा बाई कैवट एयरपोर्ट में नाईट लैंडिंग सुविधा की संभावना नहीं है.

हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति ने कहा कि १८ अप्रैल को ही केंद्र सरकार ने उस उपकरण के बिना आगे बढ़ने से साफ़ इंकार कर दिया है, परन्तु अभी तक इसेआयात करने हेतु कोई टेंडर आदि जारी नहीं हुआ है. समिति के अनुसार राज्य सरकार में कोई भी प्रतिबध्दता से एयरपोर्ट विकास पर ध्यान नहीं दे रहा है और इस कारण उएह स्तिथि बानी हुई है.

हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति ने सेना से जमीन वापसी में हो रही देरी और ४ सी एयरपोर्ट की डी पी आर अब तक नहीं बनाये जाने पर पुनः चिंता जताते हुए कहा कि इस मामले में २८७ एकर भूमि हस्तांतरण का सीमांकन और अन्य प्रक्रियाएं कार्यवाही कलेक्टर बिलासपुर को करनी है, चुनाव के कारण यह कार्यवाही टल गई थी परन्तु आज चुनाव हुए २० दिन बीत चुके है परन्तु कोई नयी तारीख जिला प्रशासन ने नहीं दी है.

हवाई सुविधा जन संघर्ष समिति का महा धरना आज भी जारी रहा और आगमन के क्रम से सर्व श्री राहुल तिवारी, जयंत मनहर, शैलेश शर्मा, संदीप बाजपेई, राजकुमार हंसपाल, एस एन मूर्ति, गणेश खांडेकर, विशम्भर गुलहरे, बृजलाल नागदेव, खुशाल दस वाधवानी, मोहन माधवानी, देवेंद्र मिश्रा, शेखर यादव, नीलेश मढवार, मनोहर खटवानी, विभव सराफ, एस चटोपाध्याय, टिकेश प्रताप सिंह, सुखु निषाद, गणेश निषाद, जावेद मेनन आदि शामिल रहे।

रवि शुक्ला . निर्मल माणिक

Next Post

स्वछता पखवाड़ा के अंतर्गत एनटीपीसी लारा में समूहिक श्रमदान से सफाई एवं हस्ताक्षर अभियान चलाया गया

Sat May 25 , 2024
दिनांक 16 से 31 मई 2024 तक स्वच्छता पखवाड़ा के तहत 25 मई 2024 को प्लांट कैंटीन और इसके आसपास के क्षेत्रों में एक सामूहिक सफाई कार्यक्रम का आयोजन किया गया। महाप्रबंधक (परचालन एवं अनुरक्षण) राजीव रंजन की देखरेख में बड़ी संख्या में कर्मचारी और सहयोगियों ने श्रमदान कर इस […]

You May Like

Breaking News